IND vs ENG: वर्ल्ड कप 2023 की रन मशीन का टीम से बाहर होने का मंडराया खतरा, क्यों हो रहे हैं लगातार फ्लॉप

IND vs ENG

IND vs ENG:  वनडे वर्ल्ड कप में मचाया धमाल… भारत में खेले गए इस इवेंट में लगाया रनों का अंबार, लेकिन वर्ल्ड कप खत्म होने के बाद से ही बल्ला ऐसा रूठा कि अब तक निराशा का दौर जारी है। जब से वर्ल्ड कप 2023 का समापन हुआ है, इसके बाद जिस भी मैच में उतर रहे हैं, ऐसा लग रहा है कि मानों क्रिकेट का कखहरा सीख रहे हो, नाकामी का सिलसिला ऐसा जारी है कि एक के बाद एक खराब शॉट पर विकेट गंवा रहे हैं और अब टीम से ही बाहर होने का खतरा मंडराने लगा है।

टीम इंडिया का स्टार खिलाड़ी बना सबसे बड़ा बोझ

हम यहां पर बात कर रहे हैं…स्टार बल्लेबाज, जिनके टेस्ट करियर का आगाज शतक के साथ हुआ, वनडे क्रिकेट में टीम के मिडिल ऑर्डर की रीढ़ बने, लेकिन अब तो नाकामी का पर्याय बन चुके श्रेयस अय्यर की…. जी हां श्रेयस अय्यर वो बल्लेबाज जिसे टीम इंडिया के भविष्य का बहुत बड़ा सितारा माना जा रहा है, वो खिलाड़ी जिसे आने वाले वक्त में भारतीय क्रिकेट टीम का लीडर माना जा रहा है, लेकिन वो जिस तरह से इन दिनों खेल रहे हैं, उससे तो अगले ही मैच में टीम में जगह मिलने की गारंटी नहीं बची है।

ये भी पढ़े-U19 World Cup 2024: भारत ने 5 बार जीता है यूथ वर्ल्ड कप, जानें कौन हैं भारत के अंडर-19 वर्ल्ड कप के विजेता कप्तान

श्रेयस अय्यर लगातार हो रहे हैं फ्लॉप, कब तक रहेंगे टीम के साथ

श्रेयस अय्यस अय्यर इन दिनों इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहे हैं। इस टेस्ट सीरीज में उनका बल्ला पूरी तरह से खामोश हैं। हालांकि अय्यर शुरुआत ठीक-ठाक कर रहे हैं, लेकिन वो बड़ा स्कोर बनाने में नाकाम रहे हैं। श्रेयस अय्यर का बल्ला दूसरे टेस्ट मैच में भी कुछ खास कमाल नहीं कर सका और वो 27 और 29 रन ही बना सके। इसके अलावा हैदराबाद में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भी कुछ खास नहीं कर सके और 35 और 1 रन ही बना पाए थे। इस तरह से लगातार उनकी ओर से फ्लॉप शो जारी है, जो अब टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा सिर दर्द बन गए हैं।

पहली 11 टेस्ट पारी में 5 फिफ्टी, 1 शतक, पिछली 13 पारी में फिफ्टी को तरसे

भारतीय क्रिकेट टीम अय्यर को मध्यक्रम की जिम्मेदारी लगातार दे रहा है। लेकिन मुंबई का ये 28 वर्षीय बल्लेबाज उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहा है। उनकी नाकामी का सिलसिला इस टेस्ट सीरीज से बल्कि पिछले काफी वक्त से चल रहे है। श्रेयस अय्यर ने अपने टेस्ट करियर के पहले ही मैच में शतक लगाया। जिसके बाद वो बहुत बढ़िया खेल रहे थे। शुरुआत की 11 पारियों में ही उनके बल्ले से 5 अर्धशतक और 1 शतक निकला, लेकिन इसके बाद खेले वो पिछली लगातार 13 पारियों में एक भी फिफ्टी नहीं लगा सके हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 35 रन रहा है।

विराट-राहुल की वापसी पर श्रेयस अय्यर का टीम में रहना मुश्किल

टेस्ट फॉर्मेट में अब तक उन्होंने 14 मैचों की 24 पारियों में 36.86 की औसत से 811 रन बनाए हैं। उनका नाकामी का दौर देखते हुए अब तो टीम में उनके स्थान पर ही खतरा दिखने लगा है। अब जैसे ही टीम में केएल राहुल और विराट कोहली जैसे दिग्गज बल्लेबाजों की वापसी होगी तो ये श्रेयस अय्यर का प्लेइंग-11 में रहना काफी मुश्किल हो जाएगा। वर्ल्ड कप में अय्यर ने 11 मैचों में 66.25 की औसत से 2 शतक और 3 अर्धशतकों के साथ 530 रन बनाए थे। लेकिन वर्ल्ड कप के बाद उनका फॉर्म बुरी तरह से लड़खड़ा गया है। अब देखना होगा कि उनका आगे का क्या स्टैंड रहता है।